पहले दो UPSC प्री एग्जाम में हुई फेल, तीसरे अटेम्प्ट में की ऐसी तैयारी; आ गई 6वीं रैंक

पहले दो UPSC प्री एग्जाम में हुई फेल, तीसरे अटेम्प्ट में की ऐसी तैयारी; आ गई 6वीं रैंक

सिविल सेवा परीक्षा को देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक माना जाता है, जिसे औपचारिक रूप से संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) परीक्षा के रूप में जाना जाता है. जहां कुछ उम्मीदवार पहले ही प्रयास में सफल हो जाते हैं, वहीं कुछ कई प्रयासों के बाद सफलता का स्वाद चखते हैं. आज हम दिल्ली की विशाखा यादव (Vishakha Yadav) के बारे में बात करने जा रहे हैं, जो पहले दो प्रयासों में प्रीलिम्स परीक्षा (Prelims Exam) पास नहीं कर पाई थी, लेकिन उसने अपने तीसरे प्रयास में शानदार वापसी की और ऑल इंडिया रैंक 6 हासिल की.

विशाखा दिल्ली के द्वारका की रहने वाली हैं और वह बचपन से ही होशियार छात्रा रही हैं. स्कूल के बाद उन्होंने दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से स्नातक किया और नौकरी प्राप्त की. दो साल काम करने के बाद विशाखा ने यूपीएससी (UPSC) की तैयारी शुरू कर दी और उनके परिवार ने भी उनका पूरा साथ दिया. यूपीएससी की तैयारी का निर्णय उसके लिए कठिन साबित हुआ और वह पहले दो प्रयासों में प्रारंभिक परीक्षा पास नहीं कर सकी. असफलता के बावजूद, उसने साहस बनाए रखा और तीसरे प्रयास की तैयारी शुरू कर दी.

दो बार के असफल प्रयास के बाद ऐसे मिली सक्सेस

असफलता के बावजूद, विशाखा यादव ने हार नहीं मानी और तीसरे प्रयास में, उन्होंने न केवल परीक्षा उत्तीर्ण की बल्कि ऑल इंडिया रैंक 6 भी हासिल की. उसने बताया कि उसने पहले दो प्रयासों के लिए बहुत सारी स्टडी मैटेरियल तैयार की थी, लेकिन रिवीजन पर ध्यान नहीं दिया. न ही उसने प्रीलिम्स के पहले मॉक टेस्ट पर ध्यान दिया था. अन्य उम्मीदवारों को उनकी सलाह है कि वे प्रीलिम्स के लिए परीक्षा से पहले अधिक से अधिक मॉक टेस्ट में शामिल हों.

विशाखा ने कहा कि सिविल सेवा की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को रोजाना 6 से 8 घंटे लगातार पढ़ाई करने की जरूरत है. कई किताबों के बजाय कुछ सीमित पुस्तकों को पढ़ने पर ध्यान दें और उत्तर लिखने का अभ्यास करें, अपनी गलतियों को समझें और उन्हें लगातार सुधारते हुए हर दिन बेहतर करने पर ध्यान दें.

Advertisements